Religion

हनुमान जी की इस पूजा से आप पर होगी धन दौलत की बारिश, हो जाएंगे मालामाल!

हनुमान जी की इस पूजा से आप पर होगी धन दौलत की बारिश, हो जाएंगे मालामाल!

hanuman

हनुमान जी की कृपा अपरंपरा है. हनुमान जी एक ऐसे देवता है जो सबसे जल्दी अपने भक्तों पर प्रसन्न होते हैं. वो अपने भक्तों से ज्यादा इंतजार नहीं कराते और नहीं उनके सब्र की परीक्षा लेते हैं. वो भक्तों में अपने प्रति प्रेम और निष्ठा देखते ही उनके लिए अपने नयन खोल देते हैं और कृपा बरसाते हैं.  हनुमान जी की भक्ति में एक खास बात यह होती है कि उनकी नजर अपने जिस भी भक्त पर पड़ती है, वो उसे धन, दौलत, सुख, शांति और समृद्धि से परिपूर्ण कर देते हैं. उनकी अपने भक्तों पर कृपा निरंतर बनीं रहती है.

हनुमान जी की पूजा कैसे करें?  किस विधि से उन्हें प्रसन्न करें, जिससे आप पर भी उनकी कृपा हो जाए?

मांस और शराब से करें परहेज

मांस और शराब आत्मा का शत्रु हैं. इनसे यथासंभव परहेज करना चाहिए. कोशिश हो कि इन चीजों को कभी भी हाथ न लगाएं. मंगलवार और शनिवार को शराब और मांस से दूर रहें. हनुमंत लला की कृपा प्राप्त करने के लिए सबसे पहली शर्त यह है कि आप अपने मन, कर्म, वचन, वाणी और विचार को शुद्ध करें. कभी किसी से गलत न बोलें, झूठ न बोलें, अभद्र और अशिष्ट भाषा से परहेज करें. सभी से प्रेमपूर्वक व्यवहार करें.

रोजाना हनुमान चालीसा का पाठ करें

प्रतिदिन प्रातःकाल स्नानादि के बाद श्री हनुमान चालीसा या श्री हनुमान वडवानल स्त्रोत का पाठ करें. मंगलवार और शनिवार को किसी हनुमान मंदिर में दर्शन करनें जरुर जाएं और वहां उन्हें चोला अर्पण करें. मंगलवार और शनिवार को किसी दूसरे देवी देवता की पूजा न करें और नहीं किसी दूसरे मंदिर वगैरह में अपना सिर झुकाएं. श्री हनुमान चालीसा में साफ कहा गया है कि और देवता चित्त न धरहीं, हनमुत सर्व सुख करहीं. इसे ध्यान में रखें.

shri_hanuman

हनुमान जी को कराएं स्नान

महीने के हर मंगलवार को सुबह सुबह उठ कर स्नान करें. स्वच्छ वस्त्र एवं लाल लंगोट धारण कर हनुमान जी की मूर्ति को 01 लोटा जल से स्नान कराएं. स्नान के क्रम में हनुमान चालीसा का पाठ करते रहें. हनुमान जी का भजन भी गा सकते हैं. हनुमान जी की पूजा में सबसे अच्छी बात यह है कि उन्हें मनाने के लिए बहुत ज्यादा विधि विधान की जरुरत नहीं पड़ती.

हनुमान जी को लगाए भोग

श्री हनुमान जी को सबसे अधिक बूंदी के लड्डू पसंद होते हैं, अतः प्रत्येक मंगलवार और शनिवार को हनुमान जी को बूंदी के लड्डू का भोग लगाएं. पूजा के बाद इस लड्डू को सर्वप्रथम स्वयं ग्रहण करें. हनुमान जी को सूर्यमुखी के फूल बहुत पंसद हैं. अगर उपलब्ध हो सकें तो सूर्यमुखी का पुष्प भगवान को जरुर चढ़ाएं.

hanuman

इस विधि को आजमाने से धन, दौलत और सुख समृद्धि से परिपूर्ण करते हैं हनुमान जी और देते हैं दर्शन

  • सबसे पहले एक साबुत उड़द का दाना हनुमान जी के सिर पर रखें और उनकी 11 बार परिक्रमा करें. इस परिक्रमा के दौरान अपनी सभी मनोकामनाओं को हनुमान जी से कहें. इसके बाद उस उड़द के दाने को लेकर वापस अपने घर लौट आएं और किसी पूजा पाठ के स्थान पर रख दें.
  • दूसरे दिन से रोजाना 01 01 उड़द का दाना बढ़ाते रहें, जैसे दूसरे दिन 02 दाना, तीसरे दिन 03 दाना, चौथे दिन 04 दाना. रोज ऐसे ही हनुमान जी के सिर पर उड़द का दाना रखें और 11 बार परिक्रमा करें. 41 दिन तक लगातार ऐसा ही करें. अब तक 41 उड़द के दाने हो चुके होंगे.
  • 42वें दिन से अब 01 01 दाना कम करते रहें. जैसे 42वें दिन 40 दाना, 43वें दिन 39 दाना, 44वें दिन 38, 45वें दिन 37 ऐसे ही. इसके बाद 81वें दिन सिर्फ 01 दाना ही बच जाएगा.
  • 81वें दिन आपका ये अनुष्ठान संपूर्ण हो जाएगा. इसके बाद सभी दानों को बहते जल में प्रवाहित कर दें और इस दौरान भी श्री हनुमान चालीसा का पाठ करें.
  • यह भी याद रखें कि इस साधना काल के दौरान आपको ब्रह्मचर्य का पूर्ण रुप से पालन करना होगा.

ऐसी मान्यता है कि 81 दिनों तक इस अनुष्ठान को संपूर्ण करने वाले भक्तों को श्री हनुमान जी स्वप्न में दर्शन देकर मनोकामना पूर्ति का आर्शीवाद प्रदान करते हैं और धन, धान्य, वैभव, प्रतिष्ठा, सुख, समृद्धि से परिपूर्ण करते हैं.

मंगलवार के दिन करें बजरंगबलि को खुश, अपनी किस्मत खुद बदलें, जानें कुछ आसान उपाय

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button
Close