National

Aadhar card status- नाम से आधार कार्ड का स्टेटस कैसे जांचें?

नाम से आधार कार्ड की स्थिति - नाम से आधार कार्ड स्थिति की जांच करने के स्टेप्स

आधार कार्ड भारतीयों के लिए पहचान प्रमाण का एक रूप बन गया है, जोकि देश के हर नागरिक के लिए आवश्यक  बन चुका है.

इस लेख में, हम आधार कार्ड के महत्व, इसकी मूल बातें और नाम से आधार कार्ड की स्थिति की जांच के  बारे में बताएंगे .

Aadhar Card Status

आधार कार्ड क्या है?

नाम से आधार कार्ड की स्थिति की जांच करने से पहले, आपका यह जानना आवश्यक है कि यह आधार कार्ड आखिर क्या है? तो दोस्तों, आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि आधार कार्ड असल में एक तरह का अद्वितीय पहचान पत्र है, जिसमें भारत सरकार की तरफ से अद्वितीय पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) द्वारा जारी 12 अंकों की पहचान संख्या शामिल है.

आधार कार्ड में क्या होता है?

आधार कार्ड में आपकी सभी तरह की बॉयोमीट्रिक जानकारीयां  शामिल है. इन जानकारियों से हम किसी भी  आधार कार्ड होल्डर व्यक्ति के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं. आधार कार्ड में आपके बारे में वो सभी जानकारियां  शामिल है, जो कि भारत के केंद्रीकृत डेटाबेस में संग्रहीत हैं.  सरकार को आपके लिए आधार कार्ड जारी करने से पहले निम्नलिखित चीज़ों की आवश्यकता पडती है-

  • 12 अंकों के साथ अद्वितीय पहचान संख्या
  • दस फिंगरप्रिंट
  • दो आईरिस स्कैन
  • जन्म की तारीख
  • पता
  • फोटो, और
  • लिंग विवरण (लिंग)।

नाम से आधार कार्ड की स्थिति

यदि आप अपना कार्ड खो देते हैं, तो अब आप अपने नाम का उपयोग कर विवरण प्राप्त कर सकते हैं. नाम से आधार डिटेल्स जानने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स फोलो करें-

1. वेबसाइट पर जाएं.
2. यहाँ अपना लॉस्ट कार्ड प्राप्त करने की आप्शन का चयन करें.
3. अपना पूरा नाम, ईमेल, पता और पंजीकृत मोबाइल नंबर दर्ज करें और उसके बाद सुरक्षा कोड को दर्ज करें . अब “ओटीपी प्राप्त करें” बटन पर क्लिक करें.
4. उसके बाद, वन-टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आपके मोबाइल और / या ईमेल पते पर पहुँच जाएगा. अब उपयुक्त बॉक्स में ओटीपी दर्ज करें और फिर ‘ओटीपी सत्यापित करें’ पर क्लिक करें.
5. अब आप चरण 2 में चुने गए अपने ‘कार्ड नंबर’ या ‘नामांकन आईडी’ के साथ अपने मोबाइल फोन पर एक टेक्स्ट संदेश प्राप्त करेंगे।
6. अब वेबसाइट पर जाएं.
7. अब, ‘अंडर आई हैव:’ अनुभाग के तहत उचित विकल्प, ‘नामांकन आईडी’ या ‘आधार’ चुनें.
8. अब अपना आधार कार्ड नंबर या नामांकन आईडी, पूरा नाम, सुरक्षा टेक्स्ट, पिन कोड और मोबाइल नंबर दर्ज करें.
9. “ओटीपी प्राप्त करें” पर क्लिक करें. वे ओटीपी को आपके फोन और / या ई-मेल पते पर भेज देंगे और फिर उपयुक्त बॉक्स में ओटीपी दर्ज करें और ‘मान्य और डाउनलोड’ पर क्लिक करें.
10. अब, जब आप पीडीएफ दस्तावेज खोलते हैं तो अपना पिन कोड पासवर्ड के रूप में दर्ज करें. आपके पास अपना ई-आधार कार्ड है, जिसे आप आसानी से प्रिंट करके उपयोग कर सकते हैं.

आधार के बारे में रोमांचक चीजें जिन्हें आपको अवश्य जानना चाहिए

आधार कार्ड नागरिक के बॉयोमीट्रिक और जनसांख्यिकीय विवरण प्राप्त करने के लिए बनाया गया है, जोकि व्यक्ति के  डेटा को केंद्रीकृत डेटाबेस में संग्रहीत करता है.आधार पूरे देश में पहचान प्रमाण के रूप में काम करता है, नाम से आधार कार्ड की स्थिति जानने के लिए नीचे दिया गया वीव्र्ण जरुर पढें.

आधार कार्ड सभी आयु वर्ग के लोगों के लिए उनके लिंग केअनुसार मान्य है. यदि किसी परिवार के पास मानक कार्ड नहीं है तो घर के प्रत्येक व्यक्ति के पास अपना अनूठा आधार कार्ड होना चाहिए. एक व्यक्ति के पास केवल एक आधार कार्ड नंबर हो सकता है, और यह जीवनभर के लिए मान्य है.  इसे किसी भी समय नवीनीकृत करने की आवश्यकता नहीं है.

आधार कार्ड पर हालिया फैसले

हाल ही में आधार और उसके सक्षम अधिनियम की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली कुछ याचिकाओं पर फैसला पारित किया था. बैठक की आगुवाई जस्टिस दीपक मिश्रा को सौंपी गयी थी. जिसमे जस्टिस ए के सिकरी, एएम खानविलकर, डी वाई चन्द्रचुद और अशोक भूषण शामिल थे. इस बैठक में निम्नलिखित परिणाम निकाले गए-

1. आपको अब अपने आधार कार्ड  के साथ बैंक खाते को जोड़ने की जरूरत नहीं है.
2. निजी कंपनियां अब ग्राहकों के आधार विवरण की मांग नहीं कर सकती.
3. आपको अब सिम कार्ड खरीदने के लिए आधार विवरण तैयार करने की आवश्यकता नहीं है.
4. छात्रों को स्कूल / विश्वविद्यालय में दाखिला लेने के लिए आधार संख्या की आवश्यकता नहीं है, एनईईटी, सीबीएसई और यूजीसी की परीक्षा में नामांकन के लिए भी आधार नंबर नहीं माँगा जाएगा.
5. अदालत ने आदेश दिया है कि आधार अवैध प्रवासियों को जारी नहीं किया जाएगा और केंद्र सरकार को जल्द से जल्द एक मजबूत डेटा संरक्षण कानून लागू करना होगा.
6. आधार को पैन कार्ड से जोड़ना अनिवार्य है.

पैन कार्ड क्या है?

पैन आयकर विभाग द्वारा मूल्यांकन के लिए जारी 10 अंकों वाला अल्फान्यूमेरिक नंबर है और आयकर रिटर्न दाखिल करने के लिए अनिवार्य है.

क्या यह जानकारी आपके लिए उपयोगी थी?

चलिए कमेंट सेक्शन में जानते हैं कि यह लेख आपके लिए कितना उपयोगी रहा. प्रवृत्त कहानियों पर अधिक और नवीनतम अपडेट के लिए टेलीस्कोप के साथ ऐसे ही जुड़े रहें.

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button
Close