Info

Make in India Essay in Hindi: मेक इन इंडिया से जुड़े फ़ायदे

Make in india in hindi: किसी भी शिक्षा में परीक्षा का सबसे अहम किरदार होता है. क्यूंकि केवल परीक्षा के माध्यम से ही परीक्षार्थियों की जानकारी और समझ का पता लगाया जा सकता है. ऐसे में परीक्षा में विद्यार्थियों को करंट अफेयर्स पर निबंध लिखने को कहा जाता है ताकि वह देश में चल रही गतिविधियों से जुड़े रहें. इन्ही गतिविधियों में से ‘मेक इन इंडिया’ भी एक है. आज हम आपके लिए essay on make in india in hindi लेकर आए हैं. तो चलिए जानते हैं आखिर मेक इन इंडिया क्या है और इसके क्या क्या फायदे हो सकते हैं.

 ये है  मेक इन इंडिया- make in india in hindi

देश के मौजूदा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आए दिन देश के विकास के लिए कोई न कोई नई योजना और नियम बना रहे हैं. इन्ही में से ‘मेक इन इंडिया’ भी एक ऐसा ही कॉन्सेप्ट है जिसे मोदी सरकार ने देश के विकास और उन्नति के लिए बनाया है. दरअसल, नोटबंदी के बाद से ही मोदी जी ने देश की सुरक्षा का जिम्मा उठा लिया था. ऐसे में देश की भलाई को लेकर वह अक्सर तत्पर रहता हैं. वहीँ मेक इन इंडिया भारत सरकार द्वारा देशी और विदेशी कंपनियों द्वारा भारत में वस्तुओं के निर्माण पर बल देने के लिए बनाया गया है. मेक इन इंडिया की शुरुआत नरेंद्र मोदी ने 25 सितंबर 2014 को की थी. make in india in hindi essay निम्नलिखित है जो विद्यार्थियों की परीक्षा के लिए सक्रिय साबित होगा.

मेक इन इंडिया पर निबंध- essay on make in india in hindi

भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आए दिन जनता की भलाई के लिए नई नई योजनायें बनाने में जुटे हुए हैं. इन्ही में से मेक इन इंडिया योजना भी ऐसी ही एक योजना है जिसकी शुरुआत 25 सितंबर 2014 को की गई. इस योजना को बढ़ावा देने के पीछे मुख्य लक्ष था कि भारतीय अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाया जा सके. साथ ही मेक इन इंडिया देश की युवा पीढ़ी को रोज़गार के नए अवसर प्रदान करती है. इस योजना का मुख्य उद्देश्य भारत को विष स्तर पर एक सफल उत्पादन केंद्र स्थान बनाना है. इस अभियान के लिए मोदी जी ने अलग अलग- 500 बड़ी कंपनियों के प्रमुख सीईओ से मुलाकात की.

दरअसल मोदी सरकार भारत देश को एक बड़ा मैन्युफैक्चरिंग केंद्र बनाना चाहती है. इसलिए उन्होंने मेक इन इंडिया की शुरुआत की ताकि मजबूत भारत को एक विनिर्माण केंद्र के रूप में परिवर्तित करके रोजगार के अवसर पैदा हों. मोदी सरकार की मेक इन इंडिया अर्थव्यवस्था फिलहाल नीचे दिए गए पच्चीस क्षेत्रों पर केंद्रित है-

  • गाडियां
  • ऑटोमोबाइल अवयव
  • विमान
  • जैव प्रौद्योगिकी
  • रसायन निर्माण
  • रक्षा विनिर्माण
  • इलेक्ट्रिकल मशीनरी
  • इलेक्ट्रॉनिक प्रणालियाँ
  • खाद्य प्रसंस्करण
  • सूचना प्रौद्योगिकी और बिजनेस प्रोसेस प्रबंधन
  • चमड़ा
  • मीडिया और मनोरंजन
  • खनिज
  • तेल और गैस
  • फार्मास्यूटिकल्स
  • बंदरगाह और शिपिंग
  • रेलवे
  • नवीकरणीय ऊर्जा
  • सड़क और राजमार्ग
  • अंतरिक्ष और खगोल विज्ञान
  • कपड़ा और परिधानों
  • तापीय उर्जा
  • पर्यटन और आतिथ्य
  • कल्याण

प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठते ही मोदी जी ने पहले स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फेहराने के साथ मेक इन इंडिया का ऐलान कर दिया था और इसके ठीक एक महीने बाद ही उन्होंने इस योजना पर कैबिनेट की सहमती इकट्ठी कर ली थी. इस योजना से सबसे पहला रिस्पांस अमेरिका और चीन से मिले. इसके लिए भारतीय निवेश को FDI से साल 2015 में 63 बिलियन डालर मिले थे.

यदि आप make in india hindi से जुडी किसी अन्य जानकारी के बारे में जानना चाहते हैं तो आप मेक इन इंडिया की वेबसाइट http://www.makeinindia.com/  पर भी विजिट कर सकते हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Close