Health

इन चीजों को अपने आहार में शामिल कर डायबिटीज़ को नियंत्रित करें- Diabetes diet chart in Hindi

Diabetes diet chartइन चीजों को अपने आहार में शामिल कर के डायबिटीज़ को नियंत्रित करें

डायबिटीज़ एक ऐसा रोग है जिसका शिकार पूरी दुनिया के करीब 45-50 करोड़ लोग है। मेडिकल के क्षेत्र में अत्यधिक तरक्की के बावजूद आज भी डायबिटीज़ को पूरी तरह से खत्म करने की कोई भी दवा मौजूद नहीं है। शरीर में इंसुलिन की कमी के कारण खून में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है और हम डायबिटीज़ के शिकार बन जाते हैं। डायबिटीज़ कोलेस्ट्रॉल और उच्च रक्तचाप जैसी बीमारियों को भी जन्म देता है। डायबिटीज़ से ग्रसित व्यक्ति को इंसुलिन की गोली या इंजेक्शन ले कर खून में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करना पड़ता है पर कभी कभी ये उपाय भी बेअसर साबित होता है। इसकी वजह आपका खान पान है जो कि Diabetes Diet Chart के अनुकूल नहीं होता है। अगर आपको डायबिटीज़ को नियंत्रित रखना है तो आपको संतुलित आहार लेना होगा जो कि Diabetes Diet Chart  के  अनुकूल हो।

आज हम आपको कुछ ऐसे खान पान Diabetes Diet Chart in Hindi  के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे अपना कर आप डायबिटीज़ पर नियंत्रण पा सकते हैं।

डायबिटीज़ के रोगी को चावल या रोटी में से क्या खाना चाहिए ?

डायबिटीज़ से ग्रसित व्यक्ति की सबसे बड़ी परेशानी खाने पीने के साथ होती है। चावल और रोटी हमारे प्रतिदिन के खानों में शामिल है और डायबिटीज़ के रोगी के मन में हमेशा ये संदेह रहता है कि वो किसे खाएं। डायबिटीज़ पर रिसर्च करने वाले विशेषज्ञ के अनुसार डायबिटीज़ के मरीजों के लिए किसी भी खाने का चुनाव करते समय सबसे महत्वपूर्ण चीज उस खाने का ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है। ये वो पैमाना है जिससे ये पता चलता है कि किसी भी खाने में मौजूद कार्बोहाइड्रेट किस हद तक शुगर में बदलने की क्षमता रखता है। किसी खाद्य वस्तु का ग्लाइसेमिक इंडेक्स अगर 55 से कम है तो वो खून में शुगर की कम मात्रा शामिल करता है जबकि 70 से ज़्यादा ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाली खाद्य वस्तु खून में शुगर को अधिक मात्रा में शामिल करता है। चावल का ग्लाइसेमिक इंडेक्स 73 है एवं गेहूं के रोटी का ग्लाइसेमिक इंडेक्स 52 है। ग्लाइसेमिक इंडेक्स से साफ पता चलता है कि डायबिटीज़ के मरीजों को चावल खाने से बचना चाहिए।

अब हम आपको बताने जा रहे हैं  Diet Chart for Diabetes type 2 in Hindi  

एक व्यक्ति को प्रतिदिन 1500-1800 कैलोरी प्राप्त करना आवश्यक होता है। इसलिए डायबिटीज़ के मरीजों के Diabetes Diet Chart  में प्रतिदिन कम से कम 3 हरी सब्जियां एवं 2 फल अनिवार्य रूप से होना चाहिए।

क्या क्या शामिल करें अपने Diabetes Diet Chart  में ?

दाल

डायबिटीज़ के मरीजों को अपने आहार में दाल को नियमित रूप से शामिल करना चाहिए। दाल कार्बोहाइड्रेट का अच्छा स्रोत है एवं दाल का ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी कम है जिससे कि खून में शुगर की मात्रा संतुलित रहता है। इसके अलावा दाल प्रोटीन का भी अच्छा स्रोत है।

हरी सब्जियां

डायबिटीज़ के मरीजों को अपने आहार में सभी तरह की हरी सब्जियों को शामिल करना चाहिए। अगर मुमकिन हो तो हरी सब्जियों को कच्चा या उबाल कर खाएं। हरी सब्जियों का सलाद एवं जूस भी बना का सेवन कर सकते हैं। आप ब्रोकली, पालक, मटर और पत्तों वाली सब्जियां अपने आहार में जरूर शामिल करें। हरी सब्जियों में मौजूद फाइबर की वजह से पेट दर तक भरा हुआ महसूस होता है। खून में शुगर की मात्रा नियंत्रित रहने के साथ साथ रक्तचाप एवं कोलेस्ट्रॉल भी नियंत्रित रहता है।

फल

बहुत से लोग ऐसा मानते हैं कि डायबिटीज़ के मरीजों को फलों का सेवन नहीं करना चाहिए क्यों कि फलों में शुगर की मात्रा अधिक होती है, पर ये सच नहीं है। आम, केला एवं अंगूर जैसे फलों में शुगर की मात्रा अधिक होती है इसलिए इनका सेवन ना करें। आप सेब, पपीता, अमरूद, नासपती जैसे फलों का सेवन नियमित रूप से कर सकते हैं।

दूध दही

दूध दही के सेवन से भी डायबिटीज़ नियंत्रित रहता है। दूध में मौजूद प्रोटीन एवं क्रबोहाइड्रेट डायबिटीज़ को नियंत्रित करने में सहायक होता है। प्रतिदिन 1 ग्लास दूध एवं 1 प्याली दही का सेवन डायबिटीज़ के मरीजों के लिए बेहतरीन है।

टमाटर का जूस

टमाटर का सेवन आप कई रूप में कर सकते हैं। टमाटर का जूस बना कर नमक और काली मिर्च पाउडर मिला कर सुबह खाली पेट पीने से अत्यधिक लाभ प्राप्त होता है।

इन सब के अलावा आप भूना हुआ चना, अंकुरित अनाज, सूप, ताजे फलों एवं सब्जियों से बनी सलाद इत्यादि का इस्तेमाल नियमित तौर पर करते रहें। तली भुनी हुई चीजों से दूरी बरतें एवं बाज़ार के खाने से भी बचें। डायबिटीज़ के मरीजों को नियमित अंतराल पर खाते रहना चाहिए। ज़्यादा देर तक भूखे रहने से बचें। व्यायाम एवं योग करते रहें।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button
Close